क्या यह गूगल को टक्कर दे सकता है विज्ञापन मुक्त नीवा सर्च इंजन| Neeva search engine in hindi ads free kya hai?

 क्या यह गूगल को टक्कर दे सकता है? विज्ञापन मुक्त  नीवा सर्च इंजन ?,Neeva search engine in hindi |neeva search engine kya hai ?




















अगर mai  आप से  कहु  आपको  कुछ ऑनलाइन  सर्च करना है हर किसी को सबसे पहले याद आता है गूगल सर्च इंजन।क्या आप जानते ऑनलाइन काफी सरे सर्च इंजन मौजुद है  की Microsoft's  Bing ,yandex ,Ask ,Yahoo इत्यादि।लेकिन सबसे लोकप्रिय नाम है गूगल।अगर किसी बच्चे को पुछ लो कुछ ऑनलाइन ढूंढ़ना है जवाब गूगल ही आएगा।गूगल हमारे डिजिटल ECO सिस्टम का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है.Neeva search engine भी एक सर्च इंजन है चलो तो पता करते है इस आने वाले सर्च इंजन को.क्या यह गूगल को टक्कर दे सकता है तो कैसे और  क्यों ? 

  
 

नीवा सर्च इंजन  neeva search engine 2020-2021 kya hai 

अब आ  रहा है नीवा  विज्ञापन मुक्त,search engine जी हा आप ने सही  सुना है. बिलकुल विज्ञापन मुक्त। अगर आप उन लोगो में से है की आपकी privacy बानी रहे और आप  विज्ञापन मुक्त सर्च कर पाये तो नीवा( neeva search engine) आपके लिए ही है। नीवा पर एक ब्लॉग भी विज्ञापन-मुक्त होने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराता है, गारंटी देता है कि "आपका डेटा किसी भी रूप में कभी भी बेचा नहीं जाएगा", और वादा करता है कि सर्च हिस्ट्री  को 90 दिनों के बाद डिफ़ॉल्ट रूप से हटा दिया जाएगा। (Google की डिफ़ॉल्ट 18 महीने है।) 


नीवा सर्च इंजन को किसने बनाया है ?(Who made Neeva Search Engine?)

आप को  जान के ख़ुशी होगी की भारतीय मूल के श्रीविवेक रघुनाथन (Vivek Raghunathan),श्रीधर रामास्वामी (Shridhar Ramaswamy) Neeva search engine नीवा सर्च इंजन को बनाया है
तो आईये जानते है  इन लोगो के बारे में
.


श्रीधर रामास्वामी (Shridhar Ramaswamy)



श्रीधर रामास्वामी का जनम 1967 में बंगलुरु हुवा| 1989 में, वे अपने मूल भारत से संयुक्त राज्य अमेरिका आए और ब्राउन यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर विज्ञान में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की। Google में शामिल होने से पहले, उन्होंने शिक्षाविदों में काम किया; बेल लैब्स में, लुसेंट द्वारा उस समय स्वामित्व वाली एक शोध सुविधा; और दूसरे स्टार्ट-अप पर काम किया|उन्होंने 2003 में गूगल को ज्वाइन किया वे गूगल में एड और कॉमर्स के सीनियर वाइस-प्रेसिडेंट रहे हैं।

श्रीविवेक रघुनाथन (Vivek Raghunathan)

इसी तरह, विवेक गूगल असिस्टेंट के पहले टेक लीड थे। विवेक आईआईटी चेन्नई से ग्रैजुएट हैं। रघुनाथन ने IIT मुंबई में पढ़ाई की और पहले यूट्यूब पर मोनिटाइजेशन के वाइस प्रेसिडेंट थे


नीवा के टीम में 45 एम्प्लोयी जिन्होंने मिल के निवा की नीव राखी है 


नीवा सर्च इंजन  कब भारत आ रहा है ?(When is Neeva search engine coming to India?)


नीवा को "चार-पांच महीने" में रोल आउट करने की योजना है, पहले अमेरिका के घरेलू बाजार में और फिर पश्चिमी यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और भारत जैसे अंग्रेजी बोलने वाले क्षेत्रों में।


नीवा सर्च इंजन  गूगल से किस तरह अलग है? (How is Neeva Search engine different from Google?)


आप जब भी गूगल पे कोई भी चीज ढूंढ़ते है आपको काफी सरे advertisement दिखती है,जिस से यूजर इंटरफ़ेस मे डिस्ट्रक्टशन होता है आप कुछ पढ़ने के लिए आर्टिकल  ढूंढते  है उस में एड्स गूगल द्वारा लगायी जाती है जो की गूगल का रेवेनुए मॉडल है. रामास्वामी  का कहना है की बाकी कंपनीयोका समय के साथ कंपनियों पर ज्यादा से ज्यादा एड दिखाने का दवाब बढ़ा है, जो वास्तव में यूजर्स नहीं चाहते हैं। इसलिए हमारी थीसिस यह है कि हम एक बेहतर सर्च प्रोडक्ट बनाए, जो केवल ग्राहक की जरूरतों पर फोकस करता हो। इस मुद्दे को रामास्वामी अच्छी तरह से समझते हैं, क्योंकि वे गूगल में एड और कॉमर्स के सीनियर वाइस-प्रेसिडेंट रहे हैं।नीवा पर एक ब्लॉग भी विज्ञापन-मुक्त होने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराता है, गारंटी देता है कि "आपका डेटा किसी भी रूप में कभी भी बेचा नहीं जाएगा".आज कल यूजर अपनी प्राइवेसी प्राइवेसी के लिए काफी सतर्क हुए है जो की हमने व्हाट्स अप्प के साथ भी देखा है  और नीवा का 4 से 5 महीने में रोल आउट होना नीवा को काफी हद में फ़ायदा दिला सकता है 

Neeva जो ड्रॉपबॉक्स और ईमेल खातों जैसी सेवाओं पर व्यक्तिगत डेटा में search और प्रश्नों के लिए एकल विंडो की पेशकश करते हैं, रामास्वामी कहते हैं।हमें कोर प्रौद्योगिकी पर पुनर्विचार करना होगा। और कुछ स्तर पर, आप कैसे वेब को क्रॉल करते हैं, आप मूल बातें कैसे अनुक्रमित करते हैं, जैसी चीजें हैं, ”वह कहते हैं। Google की तरह, Neeva भी खोज के लिए secrect सॉस - रैंकिंग बनाने के लिए AI और मशीन लर्निंग का उपयोग करेगी।


नीवा सर्च इंजन  का रेवेनुए मॉडल क्या है ?क्या नीवा सर्च इंजन फ्री है ?


Neeva शुरू में मुफ्त होगी और उसके बाद "कम से कम $ 10 प्रति माह," सब्क्रिप्शन कम होने की संभवना है|जैसे जैसे नए लोग जुड़ेंगे सब्क्रिप्शन प्राइस काम होगी  और अधिक ग्राहक जुड़ेंगे। परम्परागत ज्ञान का कहना है कि सदस्यता मॉडल एक गैर-स्टार्टर है और यदि कभी भी उपयोगकर्ताओं के एक छोटे प्रतिशत से अधिक पर कब्जा नहीं करेगा।

नीवा की शुरवात कब और क्यों हुवी ?

नीवा की शुरवात 2019 में Google hometown,के माउंटेन व्यू, कैलिफ़ोर्निया में से   हुवी है| रेड हॉफमन ,अशीम चांदना ,टॉड वैंग ,राजाराम गाउँकेर ,और बाकि टीम के साथ नीवा की नीव राखी गयी|रामास्वामी के अनुसार उन्होंने गूगल की जॉब 2018 में छोड़ी और तय कीया की वह एक ऐसा सर्च इंजन बनाएंगे जो की उपयोगकर्ताओं को ट्रैक नहीं करेगा और यह व्यक्तिगत डिटेल्स को किसी के साथ  कभी सजा नहीं करेगा ,इसी कल्पना से नीवा सर्च इंजन का जन्म हुवा जो कोई विज्ञापन नहीं होने का वादा करता है और Google के लिए एक प्रत्यक्ष प्रतियोगी के रूप में काम करेगा।पहला प्रमुख अंतर यह है कि इसमें विज्ञापन नहीं होगा और यह सब्सक्रिप्शन बेस्ड काम करेगा|  रामास्वामी के अनुसार Google पर खोज परिणामों की गुणवत्ता और उपयोगिता को विज्ञापन राजस्व पर ध्यान केंद्रित करके समझौता किया गया है। इंडस्ट्री में कई ऐसे लोग हैं जो सहमत होंगे।


नीवा सर्च इंजन  को कैसे बनाया गया और वह कैसा काम करता है ?

Neeva जमीन से एक नया search इंजन नहीं है। Search रैंकिंग Microsoft बिंग द्वारा संचालित की जाती है, मौसम की जानकारी weather.com से आती है, Intrinio से स्टॉक डेटा, और मैप्स Apple के हैं। जब उपयोगकर्ता अपने Google, Microsoft Office या ड्रॉपबॉक्स खाते को लिंक करते हैं, तो नीवा व्यक्तिगत फ़ाइलों के साथ-साथ सार्वजनिक इंटरनेट पर सही उत्तरों के लिए स्थानांतरित हो जाता है।


नीवा कितना फण्ड जुटा चुकी है ?

नीवा 273 करोड़ रुपए का फंड जुटा चुकी है कंपनी रामास्वामी कहते हैं कि हमारे पास इंजीनियरों, डिजाइनरों और प्रोडक्ट मैनेजरों और बैकर्स की एक बड़ी टीम है। ग्रेलॉक, सिकोइया कैपिटल और रामास्वामी ने स्वयं के निवेश से नीवा ने अब तक $37.5 मिलियन (273 करोड़ रुपए) का फंड जुटाया है।


नीवा के लिए अवसर या चुनावती ?

Google कंपनी को चुनौती देना कोई आसान काम नहीं है। वैश्विक स्तर पर सभी खोजों में लगभग 90 प्रतिशत Google खाते हैं और प्रतियोगियों ने इनरोड बनाने के लिए वर्षों तक असफल प्रयास किया है।

Neeva सब्क्रिप्शन अतिरिक्त बाधा का सामना मॉडल कर सकता है  जो कि कई लोग मुफ्त में उम्मीद करते हैं। हालांकि यह बढ़ती जागरूकता है कि Google और फेसबुक की मुफ्त सेवाएं व्यक्तिगत डेटा की कीमत पर आती हैं, कई उपभोक्ता - यहां तक ​​कि जो लोग अपनी गोपनीयता के बारे में चिंता व्यक्त करते हैं - अक्सर एक विकल्प के लिए भुगतान करने के लिए तैयार नहीं होते हैं।नीवा का सब्सक्रिप्शन बेस्ड मॉडल जो की एक पेड मॉडल होगा गूगल जैसे बड़े कंपनी जो की फ्री सर्च देती है भले ही आपको advertisement दिखे भारत में नीवा को गूगल को taakar देना कभी आसान नहीं होगा और नीवा आगे कितना सफल होगा यह तो समय ही बताएगा|

आप नीवा में जॉब के लिए कैसे अप्लाई कर सकते है ?

आप आपकी योग्यता के अनुसार  मौजूद जॉब्स को करियर सेक्शन में जाके चेक  कर अप्लाई कर सकते  है Neeva ki Salary आपकी योग्यता और कंपनी की रेक़ुएरन्मेंट पर निर्भर करती है |


यदि आपको नीवा सर्च इंजन के बारे में कुछ नया सिखने मिला या पसंद आया तो आपने दोस्तों के साथ व्हाट्सप्प ,फेसबुक,आदि से शेयर करे comment kare



YOU MAY LIKE >>

सीईओ CEO|HOW TO BECOME CEO|POPULAR CEO LIST|CEO FULL FORM




Previous
Next Post »