संस्कृत श्लोक नारी शक्ती Sanskrit shloka on women’s empowerment

Sanskrit shloka on womens empowerment,nari shakti,womens day

 

नारी पर संस्कृत श्लोक

   ( संस्कृत श्लोक नारी शक्ती Sanskrit shloka on women’s empowerment, संस्कृत श्लोक नारी शक्ती, Women’s Day Quotes in Sanskrit 2022, International Women’s Day Quotes in Sanskrit,  नारीपरसंस्कृतश्लोक, Sanskrit shloka on womens empowerment, nari shakti, नारी पर संस्कृत श्लोक )

 नास्ति मातृसमा छाया, नास्ति मातृसमा गतिः। नास्ति मातृसमं

त्राणनास्ति मातृसमा प्रिया।।

 

Meaning:- माता के समान कोई छाया नहीं, कोई आश्रय नहीं, कोई

सुरक्षा नहीं। माता के समान इस दुनिया में कोई जीवनदाता नहीं॥

           >10 Sanskrit Quotes-Famous Sanskrit Quotes

            Who knew that these sanskrit shlokas existed?

                        Top 10 Cheapest and best hosting in India

 मातृवत् परदारेषु य: पश्यतिस: एव पंडित

 

Meaning:- वहजो अन्य स्त्री  को माँके रूप मेंदेखता है, वहवास्तव में महानहै|

 

 नारी राष्ट्रस्य अक्शि अस्ति

 

Meaning:- महिलाराष्ट्र की आंखहै।

 

 राष्ट्रस्यश्व: नारी अस्ति

 

Meaning:- महिलाहमारा कल है।

 

 नारी माता अस्तिनारी कन्या अस्तिनारी भगिनी अस्ति

 

Meaning:- महिलामाँ है, महिलाबेटी है, महिला बहन है, महिला सब कुछ है |

 

 नारी अस्य समाजस्यकुशलवास्तुकारा अस्ति

 

Meaning:- महिलासमाज की आदर्शवास्तुकार है|

 

 यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्तेतत्र देवता

 

Meaning:- जहाँमहिलाओं की पूजाहोती है वहाँदेवता आनंदित  होतेहैं|

YOU MAY LIKE>> CHECK THESE

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Leave a Comment