Vasudhaiva Kutumbakam -The world is one family वसुधैव कुटुम्बकम

5/5 - (1 vote)

Vasudhaiva Kutumbakam -वसुधैव कुटुम्बकम, संभवतः संस्कृत साहित्य से आने वाली सबसे प्रसिद्ध पंक्ति संस्कृत का एक प्रसिद्ध वाक्यांश है। यह अभिव्यक्ति हमारी भारतीय संस्कृति के समग्र दृष्टिकोण का एक और उदाहरण है। विविधता में एकता एक ऐसी चीज है जिस पर हम हजारों वर्षों से काम कर रहे हैं, उपदेश यही बताता है, हम एक आध्यात्मिक ब्रह्म, परम सत्य से निकले हैं।

Vasudhaiva kutumbakam poster
Vasudhaiva kutumbakam poster

Vasudhaiva Kutumbakam-वसुधैव कुटुम्बकम

संस्कृत साहित्य अपनी लोकप्रिय पंक्तियों के लिए प्रसिद्ध है, संभवतः वसुधैव कुटुम्बकम, एक प्रसिद्ध नारा है जो भारतीय परंपरा में इसी दृष्टिकोण को दर्शाता है। अनेकता में एकता एक ऐसा विचार है जिसका हम आदिकाल से अभ्यास करते आ रहे हैं, जो इस वाक्यांश में परिलक्षित होता है।

The phrase Vasudhaiva Kutumbakam is from a section of the Commentary of the Upanishad.Vasudhaiva Kutumbakam means

Learn Vasudhaiva Kutumbakam

Vasudhaiva Kutumbakam Shlok

अयं निजः परो वेति गणना लघुचेतसाम्।
उदारचरितानां तु वसुधैव कुटुम्बकम्॥

Vasudhaiva Kutumbakam Meaning in Hindi

यह मेरा है, वह पराया है, ऐसे छोटें विचार के व्यक्ति करते हैं।
उच्च चरित्र वाले लोग समस्त संसार को ही परिवार मानते हैं॥

Vasudhaiva Kutumbakam Meaning in English

Let’s say the world is a family, this is my personal side, and that of his implies the sensible world. This is his, this is mine,” say the small-minded, The wise think that the whole world is a family.

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Leave a Comment